Chapter Chosen

कर्मयोगी लालबहादुर शास्त्री

Book Chosen

हिंदी कक्षा 8 द्धितीय सत्र

Subject Chosen

हिंदी

Book Store

Download books and chapters from book store.
Currently only available for
CBSE Gujarat Board Haryana Board

Previous Year Papers

Download the PDF Question Papers Free for off line practice and view the Solutions online.
Currently only available for
Class 10 Class 12
"शास्त्री जी को निष्काम कर्मयोई कहना अधिक उचित है |"

शास्त्री जी के लिए कर्मा ही ईश्वर था | बिना किसी फल की आशा के वे सपूर्ण भाव से कर्मा में लगे रहते थे | जब भी उन्हें अपने कर्मा का फल पाने के अवसर मिले, उन्होंने उनकी उपेक्षा की | फल पाने के लालच से उन्होंने कभी कोई काम नहीं किया | शास्त्री जी के इस स्वभाव को देखते हुआ उन्हें केवल 'कर्मयोगी' कहना पर्याप्त नहीं है | उन्हें निष्काम कर्मयोगी ही कहना अधिक उचित है |


"शात्री जी का सपूर्ण जीवन श्रम, सेवा, सादगी, और समर्पण का अनुपम उदाहरण है |"


शास्त्री जी कर्मा ईश्वर मानकर उसकी पूजा के रूपा में श्रम करते थे | देश और समाज की सेवा में ही उन्हें जीवन की सार्थकता लगती थी | उन्हें सादा  भोजन और सादा पहनावा ही पसंद  था | उन्होंने जो कुछ किया पूरी निष्ठा और  लगन से किया | उनकी ये विशेषताए बहुत काम लोगो में पाई जाती है |

अगर महात्मा गांधी आपके स्वप्न में आए तो आप उनसे कौन-कौन से प्रश्न पूछेंगे ? और महात्मा गांधी क्या-क्या उत्तर देंगे ? सोचिए और बताइए |

में : बापूजी ये सत्य क्या होता है ?

बापू : जिसका नाश कभी नहीं होता, जो अनत और सदा भरोसेलायक है, वही सत्य कहलाता है |

में : बापू, क्या हमारे लिए जीवन में अहिसक बनबा सभव है ?

बापू : जहा तक हो सके वहा तक किसी जीवा को आघात नहीं पहुचाना चाहिए |

में : बापू आपने अपनी आत्मकथा कैसे लिखी ?

बापू : मुझे कई बार लम्बी जेलयात्रा करनी पड़ती थी | उनका उपयोग में आत्मकथा लिखने में करता था | आत्मकथा का अधिकाशा भाग जेल में ही लिखा गया |


"शास्त्री जी का व्यक्तित्व बापू के अधिक करीबा था |"

गांधीजी देश के बहुत बड़े नेता थे | फ़िर भी उन्हें अदभुत विनम्रता, सादगी और सरलता थी | इन गुणों ने उन्हें अधिक महान और लोकप्रिय बना दिया था | गांधीजी के ये गुण लालबहादुर शास्त्री में भी थे | इसलिए शात्री जी का व्यक्तित्व बापू से अधिक करीब था |

संवाद को आगे बधाईए | (जिसमे काम-से-काम-आठ से दस प्रश्न और जवाब हो )


रिया : गांधीजी का जन्म कब हुआ था ?

सुनील : गांधीजी का जन्मा २ अक्टूबर, १८६९ को हुआ था |

रिया : गांधीजी ने उच्च शिक्षा कहा से प्राप्त की थी ?

सुनील : गांधीजी ने इग्लैंड से उच्च सिक्सा प्राप्त की थी |

रिया : गांधीजीदक्षिण अफ्रिका क्यों गए थे ?

सुनील : गांधीजी वकील के रूप में एक मुस्लिम व्यापारी का मुकदमा लड़ने के लिए गए थे |

रिया : दक्षिण आफ्रिका में किसका विरिधा किया ?

सुनील : दक्षिण अफ्रीका में रहकर वहा की सरकार की रंगभेद की नीति का विरोध किया |

रिया : अफ्रीका से लौटकर गांधीजी ने क्या किया ?

सुनील : दक्षिण अफ्रीका से भारत लौटकर गांधीजी ने यहाँ चल रहे स्वतंत्रता आंदोलन को आगे बढाया |

रिया : गांधीजी ने नमक सत्याग्रह कब किया ?

सुनील : गांधीजी ने १९३० में नमक सत्याग्रह किया |

रिया : १९४२ में कौनसा आंदोलन किया ?

सुनील : १९४२ में 'अंग्रेजो, भारत छोडो' का आंदोलन किया |