निम्नलिखित काव्यांश को पढ़कर पूछे गए प्रश्नों के उत्तर दीजिए:
दोपहर के खाने पर दबे हुए आदमी के चारों ओर बहुत भीड़ हो गई थी। लोग तरह-तरह की बातें कर रहे थे। कुछ मनचले क्लर्को ने समस्या को खुद ही सुलझाना चाहा। वे हुकूमत के फैसले का इंतजार किए बिना पेड़ को अपने आप हटा देने का निश्चय कर रहे थे कि इतने में सुपरिटेंडेंट फाइल लिए भागा- भागा आया। बोला- “हम लोग खुद इस पेड़ को नहीं हटा सकते। हम लोग व्यापार विभाग से संबंधित .हैं, और यह पेड़ की समस्या है, जो कृषि विभाग के अधीन है। मैं इस फाइल को अर्जेट मार्क करके कृषि विभाग में भेज रहा हूं। वहां से उत्तर आते ही इस पेड़ को हटवा दिया जाएगा।”
1. कहाँ और क्यों भीड़ इकट्ठी हो गई?
2. कुछ कौन लोग क्या चाहे रहे थे?
3. सुपरिटेंडेंट ने आकर क्या कहा?


1. सेक्रेटरिएट के लॉन में आँधी आने पर एक जामुन का पेड़ गिर पड़ा था। उसके नीचे एक आदमी दब गया था। अभी वह जीवित था। जब यह खबर दफ्तर में फैली तो दोपहर के खाने (लंच) के समय उस दबे हुए व्यक्ति के चारों ओर काफी भीड़ इकट्ठी हो गई।
2. उस दबे हुए व्यक्ति को देखकर सेक्रेटेरिएट के कुछ मनचले क्लर्कों ने इस समस्या को स्वयं ही सुलझाना चाहा। क्योंकि उस व्यक्ति को निकालने का फैसला हकूमत की फाइल में उलझ गया था, अत: वे क्लर्क उस फैसले की प्रतीक्षा किए बिना स्वयं ही उस पेड़ को हटा देना चाह रहे थे।
3.  सुपरिंटेंडेंट फाइल लेकर भागा- भागा आया और बोला कि हम लोग स्वयं इस रोड को नहीं हटा सकते। यह पेड़ हमारे विभाग से संबंधित नहीं है। यह पेड़ कृषि विभाग के अधीन है। अत: इस फाइल को अर्जेंट मार्क के साथ कृषि विभाग में भेजा जा रहा है। वहाँ से स्वीकृति मिलने पर ही इस पेड़ को हटाया जा सकता।




1969 Views

निम्नलिखित गद्यांश को पढ़कर पूछे गए प्रश्नों के उत्तर दीजिये:- 
हॉर्टीकल्चर डिपार्टमेंट का सेक्रेटरी साहित्य-प्रेमी आदमी जान पड़ता था। उसने लिखा था- “आश्चर्य है, इस समय जब हम ‘पेड़ लगाओ’ स्कीम ऊंचे स्तर पर चला रहे हैं, हमारे देश में ऐसे सरकारी अफसर मौजूद हैं, जो पेड़ों को काटने का सुझाव देते हैं, और वह भी एक फलदार पेड़ को. और वह भी जामुन के पेड़ को, जिसके फल जनता बड़े चाव से खाती है। हमारा विभाग किसी हालत में इस फलदार वृक्ष को काटने की इजाजत नहीं दे सकता।”
1. हार्टीकल्चर डिपार्टमेंट की क्या टिप्पणी थी?
2. उपर्युक्त विभाग किस बात की इजाजत नहीं दे सकता?
3. उपर्युक्त गद्याशं से किस मनोवृत्ति का पता चलता है?


1. हार्टीकल्चर डिपार्टमेंट का सेक्रेटरी साहित्य प्रेमी प्रतीत होता था। अत: वह पेड़ को काटने के हक में न था। उसका तर्क था कि हम पेड़ लगाने का अभियान चला रहे हैं, ऐसे में किसी सरकारी अफसर का पेड़ काटने का सुझाव हास्यापद है।
2. उपर्युक्त विभाग अर्थात् हार्टीकल्चर डिपार्टमेंट इस बात की इजाजत नहीं दे सकता कि इस फलदार वृक्ष को काट दिया जाए। यह रसीले फल वाला जामुन का पेड़ है। इसके फल जनता बड़े चाव के साथ खाती है। यह अत्यंत उपयोगी पेड़ है। इसे किसी भी हालत मै नहीं काटना चाहिए।
3. उपर्युक्त गद्यांश से सरकारी लालफीताशाही का पता चलता है। सरकार के विभिन्न विभागों में आपसी तालमेल का अभाव है। एक विभाग दूसरे विभाग को नीचा दिखाने के प्रयास में लगा रहता है। सभी विभाग प्राय. अनिर्णय की स्थिति में रहते हैं। किसी भी समस्या की जिम्मेदारी वे दूसरे विभाग पर डालकर अपना पलना झाडू लेते हैं। यही कारण है कि कोई काम नहीं होने पाता।

436 Views

निम्नलिखित काव्यांश को पढ़कर पूछे गए प्रश्नों के उत्तर दीजिए:
इस बार फाइल को मेडिकल डिपार्टमेंट में भेज दिया गया। मेडिकल डिपार्टमेंट ने फौरन ऐवान लिया और जिस दिन फाइल उनके विभाग में पहुँची, उसके दूसरे ही दिन उन्होंने अपने विभाग का सबसे योग्य प्लास्टिक सर्जन छानबीन के लिए भेज दिया। सर्जन ने दबे हुए आदमी को अच्छी तरह टटोलकर, उसका स्वास्थ्य देखकर, खून का दबाव देखा, नाड़ी की गति को परखा, दिल और फेफड़ों की जाँच करके रिपोर्ट भेज दी कि इस आदमी का प्लास्टिक ऑपरेशन तौ हो सकता है, और ऑपरेशन सफल भी होगा, मगर आदमी मर जाएगा।
1. इस बार फाइल कहाँ भेजी गई और क्यों?
2. फिर फाइल कहाँ गई?
3. सर्जन ने क्या राय दी?


1. इस बार फाइल मेडिकल डिपार्टमेंट में भेजी गई। जो व्यक्ति जामुन के पेड़ के नीचे दबा पड़ा था, उस काटकर निकालने का सुझाव आया था। बाद में उसे जोड़ा जाना था। (हास्यास्पद सुझाव) इसके लिए मेडिकल डिपार्टमेंट की राय चाहिए थी।
2. जैसे ही फाइल मेडिकल डिपार्टमेंट पहुँची, उसे अगले दिन अपने विभाग के सबसे योग्य प्लास्टिक सर्जन के पास छानबीन के लिए भेज दिया गया, ताकि वह ऑपरेशन के बारे में राय दे सके।
3. सर्जन ने दबे हुए व्यक्ति को टटोला, उसके स्वास्थ्य को देखा-परखा, खून का दबाव देखा, नाड़ी की गति को जाँचा, दिल और फेफड़ों की जाँच की और एक रिपोर्ट तैयार कर दी। इसमें बताया गया कि इस आदमी का ऑपरेशन तो हो सकता है और ऑपरेशन सफल भी हो जाएगा, मगर यह आदमी मर जाएगा।
(व्यंग्य-ऑपरेशन सफल भी होगा और आदमी भी मर जाएगा।)

460 Views

निम्नलिखित काव्यांश को पढ़कर पूछे गए प्रश्नों के उत्तर दीजिए:
थोड़ी देर में सेक्रेटेरिएट में यह अफवाह फैल गई कि दबा हुआ आदमी शायर है। बस, फिर क्या था। लोगों का झुंड का झुंड शायर को देखने के लिए उमड़ पड़ा। इसकी चर्चा शहर में भी फैल गई और शाम तक गली-गली से शायर जमा होने शुरू हो गए। सेक्रेटेरियट का लॉन भांति भांति के कवियों से भर गया और दबे हुए आदमी के चारों ओर कवि-सम्मेलन का -सा वातावरण उत्पन्न हो गया। सेक्रेटेरियट -के कई क्लर्क और अंडर-सेक्रेटरी तक जिन्हें साहित्य और कविता से लगाव था, रुक गए। कुछ शायर दबे हुए आदमी को अपनी कविताएँ और दोहे सुनाने लगे। कई क्लर्क उसको अपनी कविता पर आलोचना करने को मजबूर करने लगे।
1. कहाँ क्या अफवाह फैल गई?
2. वहाँ कैसा वातावरण उपस्थित हो गया और क्यों?
3. सरकारी कर्मचारियों ने क्या काम करना शुरू कर दिया?




1. सेक्रेटेरिएट में यह अफवाह फैल गई कि जो व्यक्ति जामुन के पेड़ के नीचे दबा पड़ा है, वह आदमी शायर है। उसे देखने के लिए लोगों का छ एकत्रित हो गया। यह चर्चा शहर- भर में भी फैल गई और गलियों से भी लोग शायर को देखने आने लगे।
2. सेक्रेटेरिएट का लीन तरह-तरह के कवियों से भर गया। वे तथाकथित कवि उस दबे हुए शायर के इर्द-गिर्द जमा हो गए। उस दबे व्यक्ति (शायर) के चारों ओर कवि सम्मेलन का-सा वातावरण उपस्थित हो गया।
3. सेक्रेटेरियेट के कई कर्मचारी, जिनमें कुछ क्लर्क और अंडर सेक्रेटरी शामिल थे और जिन्हें साहित्य और कविता से लगाव था, वे रुक गए। वे लोग पेड़ के नीचे दबे शायर को अपनी-अपनी कविताएँ सुनाने लगे। कई क्लर्क तो दबे व्यक्ति (शायर) को अपनी कविता पर टिप्पणी करने को विवश तक करने लगे। किसी को शायर को पेड़ के नीचे से निकालने की चिन्ता न थी। सब अपनी धुन में मस्त थे।

484 Views

निम्नलिखित काव्यांश को पढ़कर पूछे गए प्रश्नों के उत्तर दीजिए:
दूसरे दिन जब फॉरेस्ट डिपार्टमेंट के आदमी आरी-कुल्हाड़ी लेकर पहुँचे तो उनको पेड़ काटने से रोक दिया गया। मालूम हुआ कि विदेश-विभाग से हुक्म आया था कि इस पेड़े को न काटा जाए। कारण यह था कि इस पेड़ को दस साल पहले पीटोनिया राज्य के प्रधानमंत्री ने सेक्रेटेरिएट के लॉन में लगाया था। अब अगर यह पेड़ काटा गया, तो इस बात का काफी अंदेशा था कि पीटोनिया सरकार से हमारे संबंध सदा के लिए बिगड़ जाएंगे।
1. कौन, कह, क्यों पहुंचे?
2. उन्हें काम करने से किसने रोक दिया?
3. काम रोकने के पीछे क्या तर्क दिया गया?


1. एक व्यक्ति जामुन के पेड़ के नीचे दबा पड़ा था। पेड़ को काटकर उस व्यक्ति को निकालना था। उस व्यक्ति की फाइल अनेक विभागों में घूमती-भामती अंत में फरिस्ट डिपार्टमेंट में पहुँची। अगले दिन उस विभाग के आदमी आरी-कुल्हाड़ी लेकर आ पहुँचे ताकि उस पेड़ को काटा जा सके।

2. उन आदमियों को पेड़ काटने से रोक दिया गया। रोकने का हुक्म विदेश विभाग से आया था कि इस पेड़ को न काटा जाए।

3. पेड़ न काटने के पीछे यह तर्क दिया गया कि इस पेड़ को दस साल पहले पीटोनिया राज्य के प्रधानमंत्री ने लॉन में लगाया था । अब यदि इस पेड़ को काट दिया गया तो पीटोनिया सरकार से हमारे देश के संबंध सदा के लिए बिगड़ जाएँगे।

710 Views